रायपुर आंदोलन के सूत्र धाराओं कांग्रेसी नेताओं पर कॉविड 19 के प्रावधानों के अनुसार कार्रवाई हो- अजय तिवारी।

by Umesh Paswan

रायपुर राजधानी रायपुर में सत्तारूढ़ कांग्रेश कार्यकर्ताओं द्वारा आज निकाली गई रैली से ऐसा लगता है जैसे प्रदेश में कॉविड महामारी का फैलाव खत्म हो चुका है दुर्ग जिला भारतीय जनता पार्टी के पूर्व महामंत्री अजय तिवारी ने कहा की लॉकडाउन समाप्ति की घोषणा और अनलॉक के पहले ही दिन सत्तारूढ़ कांग्रेस दल ने जो रैली निकाली उससे यही लगता है कि छत्तीसगढ़ में सिर्फ अनलॉक ही नहीं बल्कि राजधानी में करोना समाप्ति की घोषणा भी हो जानी चाहिए थी |
कांग्रेस की राजीव भवन से राजभवन के कार्यक्रम के रैली – प्रदर्शन के फोटो वीडियो इस बात के पुख्ता प्रमाण हैं –
लोगों को शादियों के लिए और श्मशान घाट जाने के लिए 50 और 20 लोगों की बाध्यता परंतु सत्तारूढ़ सरकार के कार्यक्रम के लिए कोई कायदा – कानून कोविड-19 की गाइडलाइन नहीं |
सत्तारूढ़ सरकार इसी तरह आम नागरिकों के मौलिक अधिकारों का हनन कर अपनी राजनीतिक रोटी सेक रही हैं |
अपने परिवार के किसी व्यक्ति की मृत्यु पर रिश्तेदार, सगे संबंधियों सहित पड़ोसियों को रोने तक की परमिशन नहीं है – अंतिम दर्शन नहीं किए जा सकते और अपने हाथों से अपने परिजन का अंतिम संस्कार करने पर भी प्रतिबंध है |
वहीं दूसरी तरफ जन्मदिन, शादी – सगाई जैसे कार्यक्रमों के लिए बड़ी कोशिशों के बाद मिली इजाजत में 50 लोगों से ऊपर एकत्रित होने पर कानूनी डंडा और सख्त कार्रवाई करने की हिदायत लिख कर दी जाती है |
कानून का पालन करवाने वाले मुखिया, उनकी सरकार के मंत्री, अधिकारी स्वयं कानून का उल्लंघन करते खुलेआम नजर आते हैं और जनता बेबस है, करे भी तो क्या करें ? -जाए भी तो किसके पास अपना दुखड़ा रोए ? -घर पर रहो सुरक्षित रहो | नारा सिर्फ टैक्स पटाने वाले आम नागरिकों के लिए है – श्री तिवारी ने कहा की रायपुर की घटना के लिए जिम्मेदार लोगों पर कोविड-19 के अनुसार कार्रवाई होना चाहिए

Related Posts

Leave a Comment