17 सौ घनफीट बोल्डर चिप्स और 2 सौ घनफीट डस्ट को किया जब्‍त


पलामू। झारखंड के पलामू जिले में अवैध खनन, भंडारण एवं परिवहन की रोकथाम को लेकर उपायुक्त शशि रंजन के निर्देश के आलोक में जिला खनन पदाधिकारी आनंद कुमार शुक्रवार को थाना प्रभारी व पुलिस बल के साथ सतबरवा पहुंचे। यहां थाना क्षेत्र के मौजा मुरमा में अवैध रूप से संचालित हो रहे क्रशर में छापेमारी की। क्रशर को सील करते हुए उसमें रखे 17 सौ घनफीट बोल्डर चिप्स एवं 200 घनफीट डस्ट को जब्‍त किया। क्रशर संचालक मनिका निवासी प्रयाज्ञ यादव एवं क्रशर संचालन में अज्ञात संलिप्त व्यक्तियों खिलाफ थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई
जिला खनन पदाधिकारी आनंद कुमार को सतबरवा थाना क्षेत्र में अवैध रूप से क्रशर का संचालन किये जाने के संबंध में लगातार सूचना मिल रही थी। इस पर यह कार्रवाई की गयी। डीएमओ व थाना प्रभारी छापेमारी के लिए जब मुरमा मौजा पहुंचे, तब अवैध क्रशर का संचालन होते पाया।


, ईट भट्टों का भी निरीक्षण
अवैध खनन, भंडारण एवं परिवहन की रोकथाम को लेकर सतबरवा पहुंचे जिला खनन पदाधिकारी आनंद कुमार ने थाना क्षेत्र में संचालित ईट भट्टा का भी निरीक्षण किया। इस के क्रम में डीएमओ ने लेस्लीगंज निवासी राजन सिंह द्वारा संचालित एआरबी ईट भट्टा व लातेहार निवासी प्रकाश कुमार साहू द्वारा संचालित पीकेएस ईट भट्टा का निरीक्षण किया गया


पैनी नजर रखने के निर्देश

उपायुक्त शशि रंजन ने कहा है कि जिले में किसी भी कीमत पर अवैध खनन भंडारण एवं परिवहन नहीं हो सभी संबंधित पदाधिकारी यह सुनिश्चित करें। उन्होंने खनन से जुड़ी अवैध गतिविधियों पर पैनी नजर बनाए रखने के साथ ऐसे लोगों को चिन्हित करते हुए कानूनी कार्रवाई करने को लेकर निर्देशित किया है।

अवैध कारोबारी पर कार्रवाई
जिला खनन पदाधिकारी आनंद कुमार ने कहा कि उपायुक्त के निर्देश के अनुसार जिले में अवैध खनन, परिवहन एवं भंडारण की रोकथाम को लेकर विभाग पूरी तरह से सक्रि‍य है। जिले में किसी भी प्रकार के अवैध खनन, भंडारण एवं परिवहन नहीं होने दिया जाएगा। अवैध कारोबार में संलिप्त व्‍यक्तियों को किसी भी कीमत पर बख्‍शा नहीं जाएगा।

छत्तीसगढ़ में भी इसी प्रकार की कार्रवाई होनी चाहिए

छत्तीसगढ़ प्रदेश में अधिकतर जगह यह देखा गया है कि अवैध पत्थर क्रशर, गौण खनिज एवं समान खनिजों में अवैध उत्खनन चल रहा है

Previous articleसंतों का आशीर्वाद पाकर अभिभूत हुए मुख्यमंत्री
Next articleसरकार डिजिटल पत्रकारिता, ई पेपर और ई पोर्टल को मान्यता दे नियमानुसार पंजीकृत करें : राकेश वशिष्ठ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here