रायपुर, 07 फरवरी 2024/ छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश श्री रमेश सिन्हा द्वारा आज जिला एवं सत्र न्यायालय बस्तर, जगदलपुर का वर्चुअल निरीक्षण किया गया। मुख्य न्यायाधीश ने लंबित प्रकरणों विशेषकर पुराने लंबित प्रकरणों के शीघ्र निराकरण हेतु निर्देशित किया। ऐसे लंबित प्रकरण जिनमें मध्यस्थता हो सकती है उन्हें मध्यस्थता के माध्यम से शीघ्र निराकरण हेतु भी निर्देशित किया। इस अवसर पर न्यायाधीश श्री एन.के. व्यास भी उपस्थित रहे जो कि जिला जगदलपुर के पोर्टफोलियो जज भी हैं।

मुख्य न्यायाधीश श्री सिन्हा ने न्यायालय परिसर में स्थित प्राथमिक उपचार केन्द्र का भी निरीक्षण किया और वहां उपलब्ध दवाईयों की जानकारी ली। उन्होंने जिला न्यायाधीश को ऐसी व्यवस्था बनाने हेतु निर्देशित किया कि प्रतिदिन प्राथमिक उपचार केन्द्र में कुछ घंटों के लिए चिकित्सक उपलब्ध रहें। उन्होंने सभी न्यायाधीशों को निर्देशित किया कि कार्य का स्वस्थ माहौल सुनिश्चित करें तथा जिला न्यायाधीश को निर्देशित किया कि न्यायालय परिसर का निरंतर निरीक्षण करते रहें।

मुख्य न्यायाधीश श्री सिन्हा द्वारा सर्वप्रथम न्यायालय भवन का निरीक्षण किया गया। न्यायालय परिसर, पार्किंग, केन्टिन इत्यादि में साफ-सफाई के साथ इन स्थानों को व्यवस्थित रखने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने परिसर में स्वच्छ पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। मुख्य न्यायाधीश ने न्यायालय परिसर में चल रहे मरम्मत कार्यों की भी जानकारी ली और इन कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने हेतु संबंधितों को निर्देशित किया। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग रूम, अधिवक्ता कक्ष, मीडिएशन सेंटर, सूचना केन्द्र, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण तथा लोक अभियोजन कार्यालय का भी निरीक्षण किया तथा भवन की आधारभूत संरचना पर संतुष्टि व्यक्त की।

मुख्य न्यायाधीश श्री सिन्हा ने अधिकारियों व कर्मचारियों के अवकाश के संबंध में भी निर्देशित किया कि अवकाश की आवश्यकता को दृष्टिगत रखते हुए ही अवकाश प्रदान करें। अधिकारी व कर्मचारी समय पर कार्यालय में उपस्थिति सुनिश्चित करें।

Previous articleमहंत राजा सर्वेश्वर दास स्मृति अखिल भारतीय हॉकी प्रतियोगिता 2024 संपन्न
Next articleएनजीटी ने छत्तीसगढ़ में कोयला खदान परियोजना के लिए महाजेनको को दी गई ‘पर्यावरण मंजूरी’ रद्द कर दी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here