बदले हुए/ वर्तमान परिदृश्य में, जीडीएस में विपणन कौशल विकसित किया है और अपने ड्यूटी घंटों से परे काम करके विभाग के लिए व्यवसाय लाया है। नेटवर्क की समस्या के कारण वे सुबह जल्दी काम शुरू कर देते हैं और देर शाम को काम पूरा करते हैं। वे विभाग द्वारा आपूर्ति किए गए उपकरणों और मोबाइल हैंडसेटों को संभालते हैं और हाल ही में बीबाईओडी के तहत अधिकांश जीडीएस विभागीय कार्यों के लिए अपने स्वयं के स्मार्ट फोन / मोबाइल का उपयोग कर रहे हैं। आरपीएलआई, पीएलआई और आईपीपीबी खाते एसएसए, महिला सम्मान खाते खोलने के क्षेत्र में जीडीएस के योगदान से इंकार नहीं किया जा सकता है जो दिए गए कुल लक्ष्य का 80% तक है। घोषित प्रोत्साहन को व्यवसाय में शामिल अधिकांश जीडीएस द्वारा शायद ही लिया जाता है। इसलिए यह समय की मांग और तर्कसंगत है कि उनकी सेवाओं को तुरंत नियमित किया जाए और नियमित कर्मचारियों के बराबर विभागीय दर्जा प्रदान किया जाए। चूंकि अधिकांश

जीडीएस औसतन 5.9 घंटे से अधिक काम कर रहे हैं, इसलिए मानदंडों के अनुसार विभागीय कर्मचारी के रूप में अवशोषण का औचित्य है। इसलिए वे बिना किसी भेदभाव के विभागीय कर्मचारियों द्वारा प्राप्त सभी लाभों जैसे छुट्टी, एचआरए, टीए / डीए पेंशन, चिकित्सा, शिक्षा और अन्य सभी सुविधाओं के लिए पात्र हैं। सस्ते श्रम प्रणाली को तुरंत बंद किया जाना चाहिए क्योंकि पूरा जीडीएस समुदाय एक आदमी की तरह विरोध कर रहा है। जीडीएस का शोषण अभी और तुरंत समाप्त होना चाहिए।

ए) टीआरसीए के तर्कसंगत निर्धारण जैसी कमलेश चंद्र समिति की सभी सकारात्मक सिफारिशों का तत्काल कार्यान्वयन 1.1.2016 से नियमित कर्मचारियों की तरह, वरिष्ठो / बंचिंग को वेटेज वृद्धि, 12.24 और 36 साल की सेवा पूरी करने पर समयबद्ध वित्तीय उन्नयन।

बी) समूह बीमा को 5 लाख रुपये तक बढ़ाना।

(सी) जीडीएस ग्रेच्युटी को 5 लाख रुपये तक बढ़ाना।

डी) सवैतनिक अवकाश को 180 दिनों तक आगे बढ़ाना और नकदीकरण ।

ई) जीडीएस और उनके परिवार के सदस्यों को चिकित्सा सुविधाएं ।

एफ) जहां भी लागू हो, एसडीबीएस में जीडीएस योगदान और विभाग का योगदान 3% से बढ़ाकर 10% करें और सभी सेवानिवृत्त जीडीएस को तदर्थ पेंशन प्रदान करें। सभी प्रोत्साहन योजनाओं / प्रणालियों को समाप्त करें। जीडीएस यानी आईपीपीबी, पीएलआई, आरपीएलआई और बचत योजनाओं/मनरेगा दवारा किए गए सभी कार्यों को जीडीएस के कार्य भार के लिए गिना जाना चाहिए।

Previous articleमतदाता सूची का किया गया अंतिम प्रकाशन,कलेक्टर ने ली राजनीतिक दल के प्रतिनिधियों की बैठक
Next articleकैबिनेट मंत्री डॉक्टर शिव कुमार डहरिया जी नेतृत्व में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं सांसद दीपक बैज जी के समक्ष गुरु गद्दी भंडारपुरी धाम के गुरु द्वारिका साहेब जी,गुरु भावेंद्र साहेब जी सहित सतनामी समाज और आरंग विधानसभा क्षेत्र के हजारों की संख्या में आये वरिष्ठ जनों ने कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here