अंत्योदय का मकसद गरीब और वंचित वर्गों को सशक्त बनाना है : श्री बृजमोहन अग्रवाल

रायपुर, 11 फरवरी 2024/ पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि ‘समर्पण दिवस’ के अवसर पर राजधानी रायपुर में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। वरिष्ठ मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने कार्यक्रमों में शामिल होकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय को श्रद्धांजलि अर्पित की।

श्री अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय एक महान विचारक, राजनीतिज्ञ और समाज सुधारक थे। उन्होंने ‘अंत्योदय’ के दर्शन का प्रचार किया। वे एक राष्ट्रवादी थे और भारत की समृद्ध संस्कृति और विरासत को संरक्षित करने के लिए समर्पित रहे। उनके जीवन और कार्यों को हमेशा याद रखा जाएगा। जो हमें एक बेहतर समाज बनाने के लिए प्रेरित करती हैं।

श्री अग्रवाल ने कहा कि अंत्योदय का मकसद समाज के सबसे गरीब और वंचित वर्गों को सशक्त बनाना है। उन्होंने यह भी कहा कि, आज के समय में, जब दुनिया विभाजित हो रही है, ऐसे में दीनदयाल उपाध्याय जी की ‘एकात्म मानववाद’ की शिक्षा हमें एकता और भाईचारे का संदेश देती है।

Previous articleलोगों को मिल रहे रोजगार और स्वरोजगार से मजबूत हो रहा है समाज
Next articleमहिलाओं को आर्थिक रूप से स्वतंत्र और आत्मनिर्भर बनाना सरकार का संकल्प है : श्री बृजमोहन अग्रवाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here