जर्नलिस्ट काउंसिल ऑफ इंडिया के प्रदेश संयोजक राकेश वशिष्ठ ने जानकारी साझा करते हुए बताया कि अभी हाल ही मैं केंद्र सरकार द्वारा पारित नए प्रैस एक्ट में जर्नलिस्ट काउंसिल ऑफ इंडिया की मांग पर छोटे समाचार पत्र पत्रिकाओं के पंजीयन की प्रक्रिया को सरल बनाया गया है जिसमे ऑनलाइन माध्यम से पंजीयन संभव है

जर्नलिस्ट काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉ० अनुराग सक्सेना के निर्देशानुसार जेसीआई राजस्थान के प्रदेश संयोजक राकेश वशिष्ठ ने आज प्रधान मंत्री माननीय नरेन्द्र मोदी , माननीय अनुराग ठाकुर, केबिनेट मंत्री सूचना और प्रसारण मंत्रालय और डॉ०पी. के. मिश्रा, मुख्य सचिव प्रधानमन्त्री कार्यालय के नाम प्रेषित पत्र मैं पत्रकारों के हितार्थ जेसीआई के बैनर तले मुख्य मांगों के तहत कि अभी डिजिटल युग है और हम सभी डिजिटल पत्रकारिता को नकार नहीं सकते अतः जर्नलिस्ट काउंसिल ऑफ इंडिया ने पत्र में अपनी मुख्य मांग के तहत सभी डिजिटल मीडिया पत्रकारिता जिसमे ई पेपर , ई पोर्टल इत्यादि को नियमानुसार मान्यता दे पंजीकृत किया जाए साथ ही डिजिटल मीडिया के उभरते हुए सभी छोटे बड़े प्रिंट,इलेक्ट्रिक और डिजिटल मीडिया ई पेपर, ई पोर्टल के पत्रकारों को नियमानुसार पंजीकृत कर मान्यता देने की मांग की है।

जेसीआई ने पत्र में मांग की है कि सभी राज्यों में सरकारी विज्ञापनों के प्रकाशन में बड़े समाचार पत्रों के साथ छोटे समाचार पत्रों को भी सरकारी विज्ञापनों के प्रकाशन द्वारा आर्थिक संबल प्रदान किया जाए ताकि वित्तीय सहायता मिले।

जेसीआई ने पत्र मैं मांग की है कि आए दिन फील्ड में पत्रकारों के साथ मार पीट और गाली गलोच की घटनाएं आम हो गई है अतः जेसीआई ने सम्पूर्ण भारत में सभी छोटे बड़े प्रिंट,इलेक्ट्रिक और डिजिटल मीडिया के पत्रकार भाई बहनों की सुरक्षा हेतु पत्रकार सुरक्षा कानून प्रमुखता से लागू करने की मांग की है।

जेसीआई ने पत्र मैं मांग की है कि पत्रकारों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए जेसीआई ने सम्पूर्ण भारत में सभी जिला मुख्यालयों पर सभी छोटे बड़े प्रिंट,इलेक्ट्रिक और डिजिटल मीडिया के पत्रकारों के प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के तहत कार्ड बनवाने की मांग की है।

जेसीआई ने पत्र मैं मांग की है कि आर्थिक रूप से कमजोर पत्रकार साथियों को सस्ती दर पर आवासीय प्लाट उपलब्ध करवाने साथ ही सभी छोटे बड़े प्रिंट,इलेक्ट्रिक और डिजिटल मीडिया के पत्रकारों के बच्चो को उच्च शिक्षा हेतु छात्रवृत्ति प्रदान कर अध्ययन में सहयोग हेतु जेसीआई ने मांग की है।

जेसीआई ने पत्र मैं मांग की है कि फील्ड में कवरेज करते वक्त किसी भी आकस्मिक दुर्घटना में किसी पत्रकार साथी की मृत्यु हो जाने पर पूरे परिवार के समक्ष रोजी रोटी का संकट पैदा हो जाता है अतः जेसीआई ने मांग की है कि ऐसी स्थिति में पीड़ित परिवार के एक सदस्य को सरकारी सहायता प्रदान कर आर्थिक संबल दिया जाए।

राकेश वशिष्ठ ने बताया कि जर्नलिस्ट काउंसिल ऑफ इंडिया सभी छोटे बड़े प्रिंट,इलेक्ट्रिक और डिजिटल मीडिया, ई पेपर , ई पोर्टल इत्यादि के पत्रकारों का एक राष्ट्रव्यापी संगठन है जो कि पत्रकारों के हितों की रक्षार्थ लगातार संघर्ष करता आ रहा है और राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ० अनुराग सक्सेना के निर्देशानुसार संगठन की शाखाएं समस्त भारत मैं कार्यरत है और संगठन लगातार जमीनी स्तर पर अच्छा प्रदर्शन कर रहा है ।

Previous articleअवैध संचालन कर रहे पत्थर क्रशर को किया सील, संचालक पर एफआईआर
Next articleविकसित भारत संकल्प यात्रा के शिविरों में योजनाओं का लाभ लेने पहुंचे बड़ी संख्या में हितग्राही

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here