रायपुर, 30 सितम्बर 2023/ मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार ने अपनी जनहितैषी नीतियों के चलते लोगों का भरोसा जीता है। राज्य में खेती-किसानी से लेकर उद्योग-व्यापार सहित सभी क्षेत्रों में समृद्धि और खुशहाली आई है। छत्तीसगढ़ ने एक मॉडल राज्य के रूप में अपनी पहचान बनाई है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज यहां राजधानी रायपुर के निजी होटल में आईबीसी-24 (मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़) द्वारा 15 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आयोजित ’माइंड समिट’ कार्यक्रम में सवालों का जवाब दे रहे थे। मुख्यमंत्री ने एक सवाल का जवाब देते हुए स्पष्ट रूप से कहा कि सरकार में किसी व्यक्ति विशेष के बजाए जनता का भरोसा सरकार पर होना चाहिए और मैं लगातार पूरे छत्तीसगढ़ में सभी वर्गजाति और समाज के लोगों के बीच जाकर सरकार के काम-काज का भरोसा दिलाने का काम कर रहा हूं।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि मेरा शुरू से यह प्रयास रहा है कि छत्तीसगढ़ कि संस्कृति और परंपरा को संरक्षण और प्रोत्साहन मिले। सभी वर्ग और जाति के लोगों कि अपनी-अपनी मान्यता और परंपराएं है सबको सम्मान मिले और सबका संरक्षण हो यही प्रयास हमनें किया है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि भगवान राम हमारे आराध्य है उनका छत्तीसगढ़ से गहरा नाता है। भगवान राम छत्तीसगढ़ के जन-जन में भांचा राम के रूप में पूजे जाते है। भगवान राम छत्तीसगढ़ के कण-कण में और हर एक के मन में बसे है। भगवान राम ने अपने चौदह वर्षो के वनवास काल में सर्वाधिक दस साल छत्तीसगढ़ में बिताएं। उनके वनगमन की स्मृतियों को संजोने और संवारने के लिए हमनें रामवनगमन पर्यटन परिपथ का निर्माण करा रहे है। प्रथम चरण में 9 प्रमुख स्थलों के विकास का काम तेजी से चल रहा है। यह कार्य हमनें भगवान राम के प्रति हमारी श्रद्धा के चलते किया है।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि हमारी सरकार कि योजनाओं एवं कार्यक्रमों ने छत्तीसगढ़ के लोगों के जीवन में बदलाव और अर्थव्यवस्था को मजबूत करने का काम किया है। छत्तीसगढ़ सरकार कि सुराजी गांव योजना के तहत नरवा, गरवा, घुरूवा, बाड़ी विकास का काम किया है। इसके चलते कई लक्ष्य एक साथ हमनें साधे है। 15 हजार से अधिक नालों के ट्रीटमेंट से गांवों के भू-जल स्तर में 10 से 22 से.मी. तक की बढ़ोत्तरी हुई है। नाले के आसपास के क्षेत्रों में जैव विविधता एवं दोहरी फसल के रकबे में वृद्धि हुई है। नरवा विकास के चलते 11364 हेक्टेयर में सिंचाई सुविधा बढ़ी है। गरवा, घुरूवा विकास कार्यक्रम के चलते गांव में रोजगार और आय के साधन बढ़े है। बाड़ी विकास कार्यक्रम के चलते पोषण स्तर में सुधार के साथ-साथ अतिरिक्त आय जरिया मिला है। छत्तीसगढ़ देश की एकमात्र सरकार है जिसनें अपनी न्याय योजनाओं के चलते जनता का भरोसा जीता है।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने सवाल का जवाब देते हुए कहा कि धान खरीदकर हम किसानों पर कोई एहसान नहीं करते धान खरीदी दरअसल किसानों के सम्मान से जुड़ा है और हमारी प्रतिबद्धता किसानों को उनके फसल का उचित मूल्य दिलाने की है। जिसके चलते धान खरीदी हमारी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में शामिल है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से हम राज्य के खरीफ फसल उत्पादक किसानों को प्रति एकड़ के मान से 9 हजार रूपए की मान से आदान सहायता दे रहे है। जिसके चलते खेती किसानी को लेकर छत्तीसगढ़ में उत्साह का वातावरण बना है। फसल उत्पादन में वृद्धि हुई है और किसानों में खुशहाली आई है। गोधन न्याय योजना से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती मिली है।

Previous articleटिकेन्द्र चंद्राकर लाइमस्टोन माइन्स उर्फ बी एल रामानी चूना पत्थर खदान में नियम विरुद्ध उत्खनन की भंडाफोड़
Next articleउच्च न्यायालय के न्यायाधीश श्री रमेश सिन्हा ने जिला सत्र न्यायालय दुर्ग, राजनांदगांव और नवीन न्यायालय भवन भिलाई का किया औचक निरीक्षण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here